माता की यह आरती जिस घर में सुनी जाती है माता सदैव उस घर की रक्षा करती हैं — भोर भई दिन चढ़ गया ||

माता की यह आरती जिस घर में सुनी जाती है माता सदैव उस घर की रक्षा करती हैं — भोर भई दिन चढ़ गया ||

Также читают